Wednesday, October 27, 2010

जय महाराजा अग्रसेन - जय अग्रोहा - जय जयहिन्द !




आप सभी हिन्दी ब्लोगर मित्रों, विद्वान पाठकों,

समीक्षकों और समाजहित में समर्पित जागरूक

देशवासियों को राजकुमार भक्कड़ का विनम्र प्रणाम


महाराजा अग्रसेन की महान और पावन परम्परा के

ध्वजवाहक के रूप में युवा अग्रबंधुओं द्वारा समाज सेवा

के विभिन्न कार्यों को निष्पादित करने हेतु एक नये

संगठन "अग्रबंधु युवामंच" की स्थापना की गई है

जिसके तमाम समाचार और कार्यक्रमों की जानकारी

देने के लिए इस ब्लॉग की शुरुआत की गई है


आशा है, आप सभी का स्नेह और सहयोग मिलता रहेगा ।



उद्यम हो व्यापार हो,

चाहे जप-तप-योग


सदा अग्रणी ही रहे,

अग्रवंश के लोग

____________राजकुमार भक्कड़



agrasen seva sansthan, agrabandhu association,agrawal samaj ahemdabad, gujarat agrawal samaj, agrabandhu parishad, kavi sammelan, akhand ramayan sundarkand path,

6 comments:

  1. jai agrasen....dhanyawad..... :)

    ReplyDelete
  2. ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    ‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    मालीगांव
    साया
    लक्ष्य

    हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
    अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

    कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है।

    ReplyDelete
  3. इस नए और सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  4. शानदार प्रयास बधाई और शुभकामनाएँ।

    एक विचार : चाहे कोई माने या न माने, लेकिन हमारे विचार हर अच्छे और बुरे, प्रिय और अप्रिय के प्राथमिक कारण हैं!

    -लेखक (डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश') : समाज एवं प्रशासन में व्याप्त नाइंसाफी, भेदभाव, शोषण, भ्रष्टाचार, अत्याचार और गैर-बराबरी आदि के विरुद्ध 1993 में स्थापित एवं 1994 से राष्ट्रीय स्तर पर दिल्ली से पंजीबद्ध राष्ट्रीय संगठन-भ्रष्टाचार एवं अत्याचार अन्वेषण संस्थान- (बास) के मुख्य संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। जिसमें 05 अक्टूबर, 2010 तक, 4542 रजिस्टर्ड आजीवन कार्यकर्ता राजस्थान के सभी जिलों एवं दिल्ली सहित देश के 17 राज्यों में सेवारत हैं। फोन नं. 0141-2222225 (सायं 7 से 8 बजे), मो. नं. 098285-02666.
    E-mail : dplmeena@gmail.com
    E-mail : plseeim4u@gmail.com
    http://baasvoice.blogspot.com/
    http://baasindia.blogspot.com/

    ReplyDelete